Kese Rakhen Online Security Aur Safety Ka Khayal

Kese Rakhen Online Security Aur Safety Ka Khayal

By: | In: हिन्दी |

ऑनलाइन सिक्यूरिटी: जब कभी आप ऑनलाइन आते है तो हमेशा डर लगा रहता है कि कहीं हमारी गोपनीय जानकारिया चोरी न हो जाये कहीं कोई हमें देख तो नही रहा, हम कई बार अपनी गोपनीय बाते भी शेयर करते है और कई ऐसी तकनीक मौजूद है जिनकी मदद से कोई भी आसानी से आपकी निजी ज़िन्दगी में ताक झांक सकता है । इसलिए यह आवश्यक है कि आप सभी जानकारी के साथ ही ऑनलाइन डाटा शेयर करें । सबसे पहले यह आवश्यक है कि आप अपनी निजी डिटेल्स बिना सिक्यूरिटी के ऑनलाइन न डालें , आज हम इस आर्टिकल में आपको कुछ ऐसे टिप्स देंगे जो ऑनलाइन काम करते समय आपकी सुरक्षा करने में सहायक होंगे।

1. अत्यंत सुरक्षित पासवर्ड का चयन करे

सबसे पहले तो एक अत्यंत ही सुरक्षित पासवर्ड का चयन करे और जहाँ तक संभव हो पासवर्ड को बार-बार बदलते रहे इसके लिए आप पासवर्ड मेनेजर की सहायता भी ले सकते है । कभी भी दो या दो से अधिक वेबसाइट पर एक ही पासवर्ड का प्रयोग न करे इस कार्य में पासवर्ड मेनेजर आपकी सहायता कर सकता है, ताकि आप कठिन से कठिन पासवर्ड को भी याद रख सकें बस आपको एक मास्टर पासवर्ड को याद रखना होगा और बाकी सारा काम पासवर्ड मेनेजर करेगा ।

Advertisement

Androids के लिए Google Play Store और iPhone के लिए iTunes Store से आप Norton Identity Safe Password डाउनलोड कर सकते हैं जो कि बहुत ही सुरक्षित है ।

2. ईमेल में आने वाली अनजान लिंक पर क्लिक ना करे

कभी भी ईमेल में आने वाली अनजान लिंक पर क्लिक ना करे खासतोर पर जब आपको ओ ईमेल आपके बैंक अकाउंट या अन्य जानकारी भरने के लिए आया हो अगर कोई शक हो तो ईमेल में प्राप्त लिंक पर क्लिक ना कर सीधे बैंक की साईट पर जाकर अपने अकाउंट में लॉग इन करे।

3. स्मार्टफोन में ऑटोमैटिक लॉक का इस्तेमाल करें

अगर स्मारटफ़ोन का प्रयोग कर रहे है तो उसकी लॉक की सेटिंग इस तरह करे की कुछ समय अगर आप उसका प्रयोग न करे तो वो लॉक हो जाये और सादा 4 डिजिट के पासवर्ड की जगह कुछ Authenticate पासवर्ड डाले आजकल तो फिंगर प्रिंट पासवर्ड भी आने लगे है जो की एक सुरक्षित तरीका हो सकता है ।

4. संभब हो तो VPN का प्रयोग करे

अगर संभब हो तो VPN ( वरचुअल प्राइवेट नेटवर्क ) का प्रयोग करे इसकी सहायता से आप अपनी जानकारिया गुप्त रख सकते हैं । VPN एक तरह का निजी नेटवर्क है, जो सार्वजनिक नेटवर्क से सुरक्षा तथा गोपनीयता के लिए इस्तेमाल किया जाता है। वासे तो VPN ज्यादा तार सशुल्क सेवा है किन्तु आप इसका इस्तेमाल मुफ्त में www.hide.me जैसी वेब्सीटेस से कर सकते हैं।

Hide.me विंडोज, एप्पल, एंड्राइड और ब्लैकबेरी जैसी सभी बड़ी कंपनियों के फ़ोन, टेबलेट और ओपरैटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है।

5. PUA से बचें

PUA (Potentially Unwanted Application) यह एक नया प्रचलित तरीका है, जब भी आप कोई फ्री सॉफ्टवेर देखें तो तुरंत ही डाउनलोड करने न लग जाये क्यों कि कई बार एडवेयर (AdWare) भी साथ में इंस्टाल हो जाते हैं और हमारे गोपनीय डाटा को चुराने से लेकर आपके कंप्यूटर में और अब तो मोबाइल में भी अनचाहे विज्ञापन, निषिद्ध वेबसाइट खुद ब खुद खुलने लगाती हैं ।

कई बार इन सॉफ्टवेर के साथ प्रॉक्सी सर्वर भी आपके कंप्यूटर में इनस्टॉल हो जाता है और लगभग पूरी तरह से आपके कंप्यूटर नेटवर्क को कब्ज़ा कर लेता है तथा आप के इन्टरनेट नेटवर्क को नियंत्रित करना शुरू कर देता है।

यह अत्यंत ही जरुरी है की कोई भी सॉफ्टवेर इनस्टॉल करते टाइम आप यह जरूर ध्यान रखें की उस सॉफ्टवेर के साथ कोई और सॉफ्टवेर तो नहीं इनस्टॉल हो रहा है।

यदि आपको संदेह है कि आपके कंप्यूटर में अवांछित विज्ञापन (Unwanted Ads) आने लगे हैं, तो आप malwarebytes.com से फ्री में मालवारबीट्स डाउनलोड कर सकते हैं जो आपके कंप्यूटर से एडवेयर हटाने में सहायता करेगा।

6. एप इंस्टाल करने से पहले परमिशन जरूर देखें

अगर स्मार्टफ़ोन में कोई एप डाउनलोड कर रहे है, तो ध्यान दे कि वो आपके फ़ोन की किस प्रकार के डाटा को एक्सेस करने का  परमिशन मांग रहा है ।

7. वेबसाइट खोलते सयम HTTPS का रखें ध्यान

एक और बात का ध्यान रखें जब भी किसी सोशल साईट पर या बैंक की साईट पर लॉग इन करे तो “HTTPS” (Secure Hypertext Transfer Protocol) पर ज़रूर ध्यान दे यहाँ “S” का मतलब है की ये साईट सुरक्षित है और कई बार हैकर्स मिलते जुलते लॉग इन पेज डिजाईन करते है और हम बिना ध्यान दिए उन पर अपना लॉग इन और पासवर्ड दाल देते है । जो की नुकसानदायक हो सकता है।

8. कुकीज डिलीट करना न भूलें

कुकीज (या कुकी) का प्रयोग लगभग सारी वेब्सीटेस संवेदनशील जानकारी आपके कंप्यूटर में कुछ देर के संग्रहित करती हैं, यह जानकारी वेबसाइट के लिए अत्यंत जरुरी होता है क्यों कि बिना कुकी के आप किसी भी वेबसाइट पर लॉगिन या इन्टरनेट से कुछ आर्डर नहीं कर सकेंगे।

जब कभी नेट पर काम करे तो कुकी क्लीनर की सहायता से कूकीज को क्लीन कर दे क्यूंकि कई बार हमारी जानकारिया वहां से लीक हो सकती है । आप कुकी डिलीट यानि की क्लीन करने के लिए अपने वेब ब्राउज़र से डायरेक्टली कर सकते हैं।

  • Mozilla Firefox: Tools > Options> Privacy> Clean your recent history
  • Google Chrome: Settings >Privacy > Clear browsing data
  • UC Browser: Settings > Clear Records
  • Opera Mini: Settings > Preferences > Advanced > Cookies

9. One Time Password का रखें ध्यान

एक बार इस्तेमाल किया जाने वाला पासवर्ड जिसे हम इंग्लिश में OTP या One Time Password भी कहते हैं, जिसका इस्तेमाल बैंक, ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स, जीमेल, फेसबुक और पेटीएम जैसी कई वेब्सीटेस करती हैं । यह एक तरह का पासवर्ड है जो आपके अकाउंट को खोलने , पासवर्ड बदलने , पैसे ट्रांसफर आदि करने के काम में लाया जाता है।

आप कभी भी किसी के साथ अपना OTP शेयर न करे; किसी भी अनचाहे कॉल पर अपना पिन या पासवर्ड न बताये क्यूंकि कोई भी अधिकृत वेबसाइट कभी भी आपकी गोपनीय जानकारी नहीं मांगती ।

कई बार हैकर आपके फ़ोन पर OTP भेज कर आपसे OTP कॉल करके मांगते हैं तो तुरंत पुलिस को सूचित करें क्यों कि बैंक या कोई वेबसाइट कॉल कर के आपका OTP नहीं मांगता ।

10. एंटीवायरस अप टू डेट रखें

सबसे प्रमुख बात की अपने कंप्यूटर में हमेशा अपडेटेड और जेन्युइन एंटीवायरस ही डाल कर रखें । यदि आपके कंप्यूटर में एंटीवियर्स नहीं है तो आप को घबराने की जरुरत नहीं है क्यों अब विंडोज 7 से ही माइक्रोसॉफ्ट ने इन-बिल्ट एंटीवायरस डाल कर दिया है जिसे विंडोज डिफेंडर भी बोलते हैं, यदि आप इसके बावजूद भी एंटीवायरस का प्रयोग करना चाहते हैं तो आप AVG Free एंटीवायरस www.avg.com से डाउनलोड कर सकते हैं।

इस प्रकार थोड़ी सी जानकारी और थोड़ी सी समझदारी से आप अपने सभी कार्य बिना किसी रुकावट के कर सकते है। पर इसके बाद भी कभी अगर आप किसी परेशानी का सामना करे तो तुरंत सायबर पुलिस को सूचना दे और रिपोर्ट दर्ज करवाए क्यूंकि कभी कभी छोटी सी चूक भी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकती है।

Be First to Receive Useful & Interesting Emails You are 100% Secure as per our Privicy Policy

Also See:

Need Help? For instant and detailed answer ask your question at Isrg Forum

Related Articles